CNG ट्रैक्टर किसानों के लिए होगा फायदेमंद मल्टी टैंक स्पेशल सीएनजी ट्रैक्टर।

CNG सीएनजी ट्रैक्टर

CNG ट्रैक्टर किसानों के लिए होगा फायदेमंद मल्टी टैंक स्पेशल सीएनजी ट्रैक्टर।

किसानों के लिए खेती करना अब और भी आसान होगा। क्योंकि अभी तक किसान डीजल टैंक लगे ट्रैक्टरों का इस्तेमाल करता था। परंतु अब किसानों के लिए सीएनजी ट्रैक्टर मार्केट में उपलब्ध होगा। जिससे ईंधन की भी बचत होगी और समय की भी। सी एन जी ट्रैक्टर मेड इन इंडिया है।

सीएनजी ट्रैक्टर को रावमैट टेक्नोसोल्यूशंस और टॉमासेटो एशिल इण्डिया ने मिलकर बनाया है।

सीएनजी के ट्रैक्टर आने से इंधन की बचत और समय की बचत किसान की आमदनी के लिए होगी फायदेमंद।

किसान अपना अधिकतम आय ट्रेक्टर के रखरखाव और उसके ईंधन पर खर्च कर देता है। परंतु अब उम्मीद की एक किरण सीएनजी के रूप में किसान के लिए फायदेमंद साबित होगी। क्योंकि मार्केट में सीएनजी से चलने वाला ट्रैक्टर आने से किसान अपने इंधन और मेंटेनेंस में काफी बचत कर जाएगा। क्योंकि इससे ईंधन की लागत में काफी कमी आएगी।

किसानों के लिए पराली एक समस्या थी जो अब आजीविका का साधन होगी।

देश के किसानों के लिए पराली एक बड़ी समस्या है। लेकिन अब किसान इस समस्या का समाधान कर सकेंगे। क्योंकि पराली से बायो सीएनजी का उत्पादन संभव है। और इसे किसान बायो सीएनजी प्रोडक्ट की यूनिट को बेचकर पैसे कमा सकता है। किसानों के लिए अपनी समस्या का हल भी मिल जाएगा और आमदनी का जरिया भी।

स्वच्छ वातावरण मिलेगा बढ़ते प्रदूषण पर भी लगेगी लगाम अब नहीं होंगे किसान बदनाम।

भारत में बड़े पैमाने पर कृषि होती है कृषि में अधिकांश किसान डीजल ट्रैक्टरों का प्रयोग करते हैं। जिससे किसानों की आमदनी का आधा हिस्सा संसाधनों के रखरखाव और उसके ईंधन पर खर्च हो जाता है। परंतु अब किसान सीएनजी ट्रैक्टर से खेती करेंगे तो वातावरण में प्रदूषण नहीं होगा। एक स्वच्छ वातावरण मिलेगा।

क्योंकि डीजल इंजन होने की वजह से प्रदूषण भी ज्यादा होता है। सीएनजी ट्रैक्टर चलने से कार्बन उत्सर्जन में कम से कम 70 फ़ीसदी तक की गिरावट आ जाएगी।

डबल टैंक(डबल इंजन) से युक्त होगा सीएनजी ट्रैक्टर।

यानी कि सीएनजी ट्रैक्टर डबल टैंक का होगा एक टैंक डीजल का दूसरा टैंक सीएनजी का। ट्रैक्टर डीजल पर ही स्टार्ट होगा परंतु फ्यूल सोर्स को बदलकर सीएनजी पर शिफ्ट किया जा सकता है। जिससे किसान अपना खेती खर्च कम कर सकते हैं।

 

Share and Enjoy !

Shares

anwar khan

अनवार खान [email protected] दैनिक दृश्य के सम्पादक हैं ये अपने अनुभव से देश दुनिया में हो रही सामाजिक व्यवस्था अव्यवस्था को अपने शब्दों में लिखकर वेब पोर्टल पर प्रकाशित करते हैं। केवल सच्ची खबरें, कहानी, किस्से, यात्राओं के विरतान्त, आंखों देखी घटनाओं को अपने शब्दों में, क्या हुआ, कहा हुआ,कब हुआ, कैसे हुआ, किसने किया आदि विन्दुओ पर अपने विचार, टीका टिप्पणी और संदर्भ में भी लेखन करते हैं।

Read Previous

बुलंदशहर विकास प्राधिकरण करेगा खुर्जा बाइपास फोरलेन, खुर्जा बाइपास फोरलेन बनने से मिलेगी जाम से मुक्ति

Read Next

पर्वतीय क्षेत्रों में आई प्राकृतिक आपदा अब मैदानी क्षेत्रों में भी आफ़त का सबब बन रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

   
Shares